Friday, May 17, 2024

वनडे वर्ल्ड कप 2023 के सेमीफाइनल की तीन टीमें तय हो चुकी हैं, चौथी कौन सी?, भारत के चैंपियन बनने की संभावना कितनी?

वनडे वर्ल्ड कप 2023 के सेमीफाइनल की तीन टीमें तो लगभग तय हो चुकी हैं, अब चौथी कौन सी होगी? भारत के चैंपियन बनने की संभावना कितनी है? (World cup 2023 Final Semifinal)

वनडे वर्ल्ड कप का वनडे वर्ल्ड कप 2023 का एक चौथाई चरण पूरा हो चुका है, शुरुआत में अपने शुरू के दो या तीन मैचों में टीमों ने जैसा प्रदर्शन किया है, उनके प्रदर्शन के आधार पर सेमीफाइनल (World cup 2023 Final Semifinal) में जाने वाली टीमों की तस्वीर स्पष्ट हो चली है।

कुछ टीमें में जो टूर्नामेंट आरंभ होने से पहले फेवरेट थीं, वह अपने दावे पर खरी उतरती हुई आगे बढ़ रही हैं, जिनमें भारत और न्यूजीलैंड के नाम शामिल हैं।

एक दो टीमें जो फेवरेट थीं उनका इस वर्ल्ड कप में प्रदर्शन उम्मीद के मुताबिक नहीं रहा, जैसे ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड।

एक टीम वर्ल्ड कप में छुपी रुस्तम बनकर निकली है, वह है साउथ अफ्रीका।

कुछ टीमों ने तीन-तीन मैच खेल दिए हैं और कुछ टीमों ने दो-दो मैच खेले हैं। जो टीम शुरू में ही जीत हासिल करके विनिंग ट्रैक पकड़ लेती है, फिर उसकी आगे की राह आसान हो जाती है, जबकि शुरुआत के मैच हार कर बहुत सी टीम विनिंग ट्रैक से उतर जाती हैं।

पिछले रिकार्ड पर नजर डालें तो…

भारत, ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड इन चार टीमों ने पिछले वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल खेला था और इस वर्ल्ड कप में भी यह चार टीम में फेवरेट थीं। उम्मीद जताई जा रही थी कि यह चार टीमें ही सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई करेंगी।

लेकिन ऐसा वर्ल्ड कप के इतिहास में कभी नहीं हुआ कि पिछला वर्ल्ड कप की सेम चारों टीमों ने अगले वर्ल्ड कप में भी सेमीफाइनल के लिए क्वालीफाई किया हो, तो इस इतिहास के आधार पर यह चारों की चारों टीमें ही सेमीफाइनल में जाती ऐसा संभव नहीं होने वाला था। इन चारों टीमों से कोई एक टीम एक या दो टीम तो बाहर जानी ही थी और एक या दो टीम नई आनी है।

भारत और न्यूजीलैंड ने अपने शुरू के तीनों मैच जीत कर सेमीफाइनल की अपनी राह लगभग मजबूत कर ली है, और उनका सेमीफाइनल में जाना तय लग रहा है।

साउथ अफ्रीका ने दो मैच खेले हैं और दोनों मैच उसने जिस अंदाज से जीते हैं, उससे वह एक बेहद मजबूत टीम बनकर उभरी है, उसकी भी सेमीफाइनल में जाने की संभावना 80 से 90% हो चली है।

इस आधार पर कर सकते हैं कि भारत, न्यूजीलैंड और दक्षिणी अफ्रीका यह तीनों टीमें वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल खेलेंगी, इतनी बात निश्चित है। अगर कोई बड़ा उलट फेर नहीं हुआ तो यह तीनों टाइम वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल खेलने वाली हैं, यह बात तय हो चुकी है।

अब वर्ल्ड कप सेमीफाइनल के चौथे स्थान के लिए जंग होने वाली है कि वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल में जाने वाली चौथी टीम कौन सी होगी।

वैसे तो ऑस्ट्रेलिया इसकी दावेदार थीं, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने शुरू के दो मैचों में जिस तरह का प्रदर्शन किया है, उससे उसकी आगे की राह कठिन होने वाली है।

ऑस्ट्रेलिया इस वर्ल्ड कप में उस तरह की कॉन्फिडेंस वाली टीम नहीं दिखाई दे रही, जैसी वह हुआ करती है। उसके प्रदर्शन को देखकर नहीं लगता कि उसने पाँच बार वनडे वर्ल्ड कप जीता है, लेकिन ऑस्ट्रेलिया कम बैक करने वाली टीम है। वह 5 बार चैंपियन रह चुकी है, इसलिए संभावना है कि आने वाले सात मैचो में ऑस्ट्रेलिया कम बैक करें। उधर पाकिस्तान का प्रदर्शन भी मिला-जुला रहा है।

इंग्लैंड सेमीफाइनल एक फेवरेट टीम मानी जा सकती है, इंग्लैंड अफगानिस्तान के खिलाफ मैच अगर अच्छे अंतर से जीत लेती है, तो उसकी संभावनायें बढ़ जाएंगी। वह अपना पहला मैच हार चुकी है, इसलिए उसके प्रदर्शन में भी उतार-चढ़ाव रहेगा।

कहा जाए तो सेमीफाइनल के लिए अगर जंग है, तो केवल चौथी टीम के लिए ही जंग है। तीन टीमें लगभग तय हो चुकी हैं।

नीदरलैंड, बांग्लादेश, अफगानिस्तान, श्रीलंका ये चार टीमें टूर्नामेंट की कमजोर टीमें हैं, और अभी तक टूर्नामेंट में इनका प्रदर्शन भी कुछ खास नही रहा है इसलिए अगर ये टीमें अब सेमीफाइनल में जाती नही दिख रहीं है।

इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और पाकिस्तान ये तीन टीमों से एक टीम होगी जो सेमीफाइनल की चौथी टीम बनेगी।

इन तीन टीमों मे भी ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड ये दो टीमों में एक टीम की संभावना ज्यादा है। अब देखना होगा कि सेमीफाइनल की चार टीमें कौन सी होगीं।

भारत के चैंपियन बनने की संभावना कितनी?

प्रदर्शन के आधार पर कहा जाए तो भारत का इस वर्ल्ड कप में प्रदर्शन अच्छा ही रहा है, इसलिए भारतीय टीम में चैंपियन बनने के सारे गुण हैं। वह टूर्नामेंट के शुरू होने से पहले फेवरेट टीम थी। मेजबान देश होने का भी उसे फायदा मिलेगा।

ट्रेंड और इतिहास पर नजर डाली जाए तो पिछले तीन बार के वर्ल्ड कप का मेजबान देश ही चैंपियन बनता रहा है। भारत 2011 में मेजबान देश था और चैंपियन बना। ऑस्ट्रेलिया 2015 में मेजबान देश था और चैंपियन बना। इंग्लैंड 2019 में मेजबान देश था और चैंपियन बना।

तो इस ट्रेंड के हिसाब से भारत की चैंपियन दावेदारी और अधिक मजबूत होती है, क्योंकि भारत ही इस वर्ल्ड कप का मुख्य मेजबान देश है।

यही ट्रेंड अगर चौथी बार भी काम कर गया तो भारत का तीसरी बार वर्ल्ड कप चैंपियन बनना तय है

यह तो भाग्य वाली बात हो गई, लेकिन प्रदर्शन के आधार पर भी भारत की दावेदारी एकदम मजबूत है, भारतीय टीम अच्छा खेल रही है।

अगर भारत ने सेमीफाइनल में जीत हासिल कर ली तो फाइनल में उसकी जीत पक्की है।

World cup 2023 Final Semifinal India others


ये भी पढ़ें

13वें वनडे वर्ल्ड कप क्रिकेट टूर्नामेंट 2023 के सभी मैचों का रिजल्ट अपडेट और फैक्ट्स

वनडे वर्ल्ड कप 2023 शेड्यूल और सारी डिटेल

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

mindians.in

Latest Articles