Wednesday, April 17, 2024

गूगल पे, फोन पे, पेटीएम का दबदबा खत्म होने वाला है। आने वाला नया UPI Plugin

New UPI Payment plugin

गूगल पे, फोन पे, पेटीएम का दबदबा खत्म होने वाला है। आने वाला नया New UPI Payment plugin

गूगल पे, फोन पे, पेटीएम, एमेजॉन पे जैसी पेमेंट एप्स का दबदबा अब खत्म होने वाला है। मोबाइल ऐप्स द्वारा पेमेंट में एक नई क्रांति आने वाली है।

भारत सरकार द्वारा एक नया यूपीआई पेमेंट सिस्टम पेश किया जा रहा है। यह नया सिस्टम नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन पेमेंट सिस्टम द्वारा यूपीआई प्लगइन सिस्टम के रूप में प्रस्तुत किया जा रहा है। इसका मुख्य उद्देश्य देश भर में ऑनलाइन पेमेंट को पूरी तरह से परिवर्तित करना है।

यूपीआई प्लगइन सिस्टम क्या है?

वास्तव में, आपको कोई खरीदारी करते समय या किसी को पेमेंट करते समय ऑनलाइन पेमेंट के लिए आपको अक्सर गूगल पे या फोनपे जैसे थर्ड पार्टी के ऐप्स का उपयोग करना पड़ता है।

इस प्रक्रिया में कई बार पेमेंट करने में कठिनाइयाँ आती हैं। यूपीआई प्लगइन सिस्टम को इस दिक्कत को दूर करने के लिए पेश किया गया है, जिसमें ऑनलाइन पेमेंट के लिए गूगल पे और फोनपे जैसे थर्ड पार्टी ऐप्स की आवश्यकता नहीं होगी।

इसका मतलब है कि आपको ऑनलाइन पेमेंट के लिए किसी भी वर्चुअल पेमेंट एड्रेस का उपयोग करके पेमेंट कर सकेंगे। यानि जिस कंपनी के लिए आप पेमेंट कर रहे हैं, उस कंपनी का अपना यूपीआई एड्रेस होगा।

इसके फायदे क्या हो सकते हैं?

यूपीआई प्लगइन आने से थर्ड पार्टी एप्स के द्वारा पेमेंट की प्रक्रिया होने वाले धोखाधड़ी के मामलों में कमी आ सकती है और ऑनलाइन पेमेंट की स्पीड भी बढ़ेगी। इसके अलावा कहा जा रहा है कि यह नया पेमेंट सिस्टम पेमेंट करने करने के सिस्टम को ही बदल देगा और लोगों की थर्ड पार्टी एप्स पर निर्भरता कम होगी।

इस समय मार्केट में ऑनलाइन पेमेंट के दो प्रमुख खिलाड़ी, गूगल पे और फोनपे हैं।

ऑनलाइन यूपीआई पेमेंट में 47% हिस्सेदारी फोनपे की है और 33% हिस्सेदारी के साथ गूगल पे दूसरे स्थान पर है। 13% हिस्सेदारी के साथ पेटीएम तीसरे स्थान पर है। इसके अलावा अमेजॉन पे और व्हाट्स एप पे की भी ठीक-ठाक भागीदारी है।

सरकार की योजना क्या है?

वर्तमान में, सरकार की योजना है कि यूपीआई पेमेंट सेक्टर में किसी एक या दो कंपनियों का वर्चस्व नहीं होने दें। इसके लिए सरकार ने 30% कैप की सीमा भी निर्धारित की है। सरकार का यूपीआई प्लगइन इन कंपनियों के वर्चस्व को चुनौती देगा।

ऑनलाइन पेमेंट ऐप्स में अधिकतर कंपनियां विदेशी जो कि अमेरिका की हैं। हालाँकि ऑनलाइन पेमेंट में सबसे बड़ी हिस्सेदारी इस समय फोन पे की है। जो कि अमेरिकी कंपनी नही है बल्कि भारतीय कंपनी है। लेकिन गूगल पे, अमेजॉन पे और व्हाट्सएप पे अमेरिकी कंपनियां है।

इन सभी पेमेंट कंपनियों की टेंशन इस नए पेमेट सिस्टम आने की सूचना से बढ़ गई हैं क्योकि सीधे तौर पर मर्चेंट को ही पेमेंट करने का विकल्प उपलब्ध होने पर कोई भी इन थर्ड पार्टी पेमेंट एप्स का उपयोग नही करेगा। इससे इन कंपनियों का कारोबार गिरना निश्चित है।

फिलहाल इस योजना पर कार्य जारी है और जल्दी ही नया यूपीआई पेमेंट सिस्टम देखने को मिल सकता है। इससे निश्चित ही यूजर्स को बहुत अधिक सुविधा होगी। वो सीधे तौर पर उसी मंर्चेट को पेमेंट कर पाएंगे जिसे उन्हें पेमेट करना है। क्योंकि उस मर्चेंट अपना यूपीआई एड्रेस होगा। अब यूजर्स को किसी थर्ड पार्टी यूपीआई एप्स की जरूरत नही होगी।

तो इंतजार कीजिए इस नए पेमेंट के आने का।

 

Post topic: New UPI Payment plugin

 


ये भी पढ़ें

अक्षय कुमार फिर भारतीय नागरिक बनें, जानें और कौन-कौन सितारे हैं विदेशी नागरिक।

वनडे क्रिकेट वर्ल्डकप 2023 के टिकट कहाँ और कब से मिलेंगे? जान लीजिए।

क्रिकेट के सभी एशिया कप के बारे में जानें


शिक्षा और ज्ञान- Education & GK
mindians.in

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

mindians.in

Latest Articles